अंबेडकरनगर: संचालक ने नहीं दिया 5000 रुपए, तो जेई ने काटी मुर्गी फॉर्म की बिजली, 450 मुर्गियों की मौत

पीड़ित ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत कर जेई के खिलाफ कार्रवाई की मांग किया

अंबेडकरनगर: संचालक ने नहीं दिया 5000 रुपए, तो जेई ने काटी मुर्गी फॉर्म की बिजली, 450 मुर्गियों की मौत

अंबेडकरनगर, अमृत विचार। मुर्गी फॉर्म संचालक से जेई ने पांच हजार रुपए की मांग किया, जिसके बाद रुपए देने के लिए मुर्गी फॉर्म संचानक ने मना कर दिया। जिससे नाराज होकर जेई ने मुर्गी फॉर्म की बिजली काट दी। बिजली कटने के कारण भीषण गर्मी में करीब 450 मुर्गियां मर गई। पीड़ित ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराकर कारवाई की मांग की है। मामला जलालपुर विद्युत उपखंड के अंतर्गत आने वाले सबस्टेशन नेवादा का है। 

बता दें कि पीडि़त रमेश यादव निवासी ग्राम बरईपुर वल्लीपुर पोस्ट मठिया तहसील जलालपुर ने बताया कि उसके द्वारा मुर्गी फॉर्म संचालन के लिए विद्युत विभाग द्वारा व्यवसायिक कनेक्शन लिया गया है, जिसका बिजली का बिल नियमित रूप से जमा किया जाता है। उक्त कनेक्शन पर वर्तमान बिल मात्र 9626 रुपए ही बकाया है। बीते बुधवार को नेवादा उपकेंद्र पर तैनात जेई रोहित कुमार द्वारा मुर्गी फॉर्म पर पहुंचकर कनेक्शन और बिल की जांच करते हुए तुरंत बिल जमा करने की बात कही गई। जिस पर उपभोक्ता द्वारा 24 घंटे का समय मांगा गया।

पुन: जेई द्वारा पांच हजार रुपए जमा करने की मांग की गई जिस पर उपभोक्ता द्वारा पांच हजार रुपए विद्युत उपकेंद्र नेवादा में जमा कराया गया। पैसे देने की बजाय उपकेंद्र में जमा करवा देने से नाराज अवर अभियंता रोहित कुमार ने उपभोक्ता की केबल कटवा दी। जिससे मुर्गी फॉर्म में पल रहे लगभग साढ़े चार सौ मुर्गियों की मौत हो गई। 

शिकायत के बाद भी विभाग ने जेई पर नहीं की कार्रवाई : उपभोक्ता द्वारा इसकी लिखित शिकायत उपकेंद्र पर करने से विद्युत कनेक्शन तो जोड़ दिया गया, लेकिन आरोपी अवर अभियंता पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस बीच आरोपी अवर अभियंता द्वारा पुन: बिजली कटवाने और बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज करवाने की धमकी दी गई।

विद्युत विभाग की मनमानी से आहत उपभोक्ता द्वारा मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत करते हुए आरोपी अवर अभियंता रोहित कुमार के विरुद्ध उचित कार्रवाई और मुआवजे की गुहार लगाई गई है। 

अधिकारी बोले- इस संबंध में जलालपुर उपखंड के अधिशासी अभियंता एके शुक्ला ने बताया कि मामला जानकारी में नहीं है। मामले की जांच करवा कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ेः 86 केंद्रों पर हो रही UPSC परीक्षा, मंडलायुक्त और DM ने केंद्रों का किया निरीक्षण