बरेली: सीवर लाइन डालने के लिए ठेकेदार सड़क खोदकर छोड़ गया, दर्द झेल रहे लोग

बरेली: सीवर लाइन डालने के लिए ठेकेदार सड़क खोदकर छोड़ गया, दर्द झेल रहे लोग

बरेली, अमृत विचार। अमृत योजना के तहत सीवर लाइन डालने में मनमानी की जा रही है। स्टेशन रोड पर होटल गैलेक्सी वाली गली में जल निगम के ठेकेदार ने सीवर लाइन डालने के लिए सड़क खोदकर छोड़ दी है। इससे लोगों को दिक्कत हो रही है, मगर जिम्मेदारों को इससे कोई सरोकार नहीं है।

स्थानीय लोगों के अनुसार करीब दस दिन पहले जल निगम के ठेकेदार ने सीवर लाइन डालने के लिए खोदाई शुरू की थी। ठेकेदार ने बताया था कि एक सप्ताह में काम पूरा हो जाएगा।

कुछ दिन बाद सड़क भी ठीक करा दी जाएगी, मगर ठेकेदार ने सड़क खोदकर छोड़ दी है। इससे बाइक सवार गिरकर घायल हो रहे हैं। रात में गली से निकलने में हादसा होने का डर बना रहता है। सबसे ज्यादा परेशानी स्कूली बच्चों को हो रही है। ऊबड़-खाबड़ सड़क होने से रिक्शा समेत अन्य वाहन गली में नहीं आ पा रहे हैं। वहीं जल निगम के अफसर दावा कर रहे हैं कि शहर में सीवर लाइन को बिछाने और उन्हें आपस में जोड़ने का काम अंतिम दौर में चल रहा है।

20 वार्डों के मोहल्लों में दिए जाने हैं कनेक्शन
जल निगम की ओर से शहर के 20 वार्डों के मोहल्लों में घर-घर सीवर के कनेक्शन देने की योजना है। दावा है कि कनेक्शन देने के बाद मोहल्लों में बनी नालियां अब केवल बारिश का पानी के बहाव के लिए ही रह जाएंगी। शौचालय, रसोई, स्नानगृह आदि का पानी सीवर लाइन में जाएगा।

जल निगम के सहायक अभियंता मोहम्मद आसिफ का कहना है कि स्टेशन रोड पर गैलेक्सी होटल वाली गली की सड़क खोदने के बाद अधूरा काम छोड़ने का मामला संज्ञान में नहीं है। यदि ऐसा है तो मौके का निरीक्षण कर एक सप्ताह के अंदर काम पूरा करा दिया जाएगा।

स्थानीय लोग बोले
मैं एक रिश्तेदारी में आया हूं। पिछले सप्ताह भी आया था तब भी गली में सड़क उबड़ खाबड़ थी। गली से आवागमन में दिक्कत हो रही है। जब सड़क खोदी है तो सीवर लाइन का काम भी समय पर किया जाना चाहिए था।- अतुल कुमार

दस दिन पहले जल निगम ने सीवर लाइन डालने को सड़क खोदी थी। उसके बाद से आज तक कोई लौटकर नहीं आया। ठेकेदार की लापरवाही के कारण ऊबड़ खाबड़ गली से निकलना दूभर है। रात में ज्यादा परेशानी होती है।-नमित अग्रवाल, व्यापारी

ठेकेदार अपने हिसाब से काम कर रहा है। अफसरों को भी आम लोगों की समस्या से कोई सरोकार नहीं। गली में हालात इतने खराब हो गए हैं कि दोपहिया वाहन तो दूर पैदल निकलने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।-आशीष

गली में खुदाई हुए करीब 10 दिन हो गए हैं। सबसे ज्यादा समस्या सुबह के समय होती है जब स्कूल जाने के लिए बच्चे घर से निकलते हैं। हादसे का डर बना रहता है। जल निगम के अफसर इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।-राजीव

सीवर लाइन बिछाने का काम शुरू किए बिना ही सड़क खोदकर ठेकेदार चला गया। राहगीरों के साथ-साथ स्थानीय लोग इसकी वजह से परेशान हैं। न कोई मौके पर आने वाला है और न कोई हमारी फरियाद सुनने वाला है।-रीता

ठेकेदार की मनमानी से लोग परेशान हैं। गली में जब खुदाई शुरू की गई थी तो कहा गया था काम जल्द पूरा हो जाएगा। दस दिन के बाद भी हालात जस के तस हैं। काम को अभी तक पूरा नहीं किया गया है। लोगों को परेशानी से जूझना पड़ रहा है।-विजय चौहान

ये भी पढे़ं- बरेली: फटकार का असर, अवकाश के दिन भी कैंप लगाकर की वसूली

 

Online Jobs Apply