रुद्रपुर: फर्जी डिग्री व मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार

रुद्रपुर: फर्जी डिग्री व मार्कशीट बनाने वाले गिरोह का सरगना गिरफ्तार

रुद्रपुर, अमृत विचार। शहर की एक पॉश कॉलोनी में फर्जी डिग्री व मार्कशीट बनाने वाले गिरोह के फरार सरगना को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया है। पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेकर मामले से विस्तृत जानकारी जुटाएगी। इस मामले में जुड़े लोगों का पता लगाने की कोशिश भी करेगी। 

शुक्रवार को पुलिस कार्यालय में मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी मंजूनाथी टीसी ने बताया कि 10 नवंबर की देर शाम कॉलोनी मेट्रोपोलिस कॉलोनी में सत्यापन अभियान के दौरान पुलिस ने एक फ्लैट से फर्जी डिग्री बनाने वाले गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया था। मामले में गिरोह का मुख्य सरगना गुलड़िया भिंडरा न्यूरिया, पीलीभीत, यूपी निवासी नवदीप भाटिया फरार चल रहा था। आरोपी के विदेश भागने के चलते पुलिस ने आरोपी के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया था। गुरुवार शाम पुलिस ने फरार नवदीप को मुखबिर की सूचना पर रुद्रपुर-हल्द्वानी मार्ग स्थित संजय वन के पास से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

एसएसपी ने बताया कि नवदीप द्वारा पिछले करीब एक साल से यहां विलियम कैरी यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री व मार्कशीट इत्यादि बनाने का कार्य किया जा रहा था। इसके अलावा भी वह कई अन्य संस्थानों के डिग्री व डिप्लोमा उपलब्ध करता था। जिसके एवज में वह ग्राहकों से मोटी रकम वसूलते थे। बताया कि आरोपी ने फर्जी डिग्री बनाने से आय अर्जित कर अथाह संपत्ति एकत्र की है। उसके संपत्ति जांच की जाएगी। साथ ही उसके खिलाफ गैंगस्टर की करवाई भी की जाएगी।

यह था मामला
10 नवंबर की देर शाम पुलिस ने शहर की पॉश कॉलोनी मेट्रोपोलिस में सत्यापन अभियान चलाया। इस दौरान टावर एच-9 के फ्लैट नंबर दो में दो युवक पुलिस को देख घबरा गये और भागने का प्रयास करने लगे। शक होने पर पुलिस ने फ्लैट की तलाशी ली। तो पुलिस को वहां से मेघालय के शिलांग में स्थित विलियम कैरे यूनिवर्सिटी के ब्लैंक व तैयार फर्जी डिग्री, मार्कशीट, प्रिंटर इत्यादि पुलिस को बरामद हुआ था। पूछताछ में पुलिस को जानकारी मिली कि फ्लैट में पिछले साल अक्तूबर से फर्जी डिग्री-डिप्लोमा, अंकतालिका व सर्टिफिकेट बनाने का धंधा चल रहा था। गिरोह का सरगना रुद्रपुर आवास विकास निवासी नवदीप भाटिया है, जो कीरत ट्रेडिंग कंपनी नाम की कंप्यूटर की दुकान चलाता है। उसने फर्जी डिग्री-डिप्लोमा बनाने के लिए दो युवक गौरव चंद निवासी चूनाभट्टा थाना बनबसा (चंपावत) और अजय कुमार निवासी राजीव नगर, डोईवाला (देहरादून) को नौकरी पर रखा था। 

सरगना की निशानदेही पर यह सामान किया बरामद
गिरफ्तार किये गये गिरोह के सरगना नवदीप भाटिया की निशानदेही पर पुलिस ने अन्य फर्जी मार्कशीट व डिग्रीयां भी बरामद की हैं। जिनमें प्रोविजनल डिग्री सर्टिफिकेट 100 ब्लैंक प्रतियां, विलियम कैरी यूनिवर्सिटी के चार ब्लैंक लेटर पेड, 172 ब्लैंक डिग्री पेपर, यूनिवर्सिटी के पते से अंकित 878 लिफाफे, छोटे 219 लिफाफे, यूनिवर्सिटी की पांच मुहरे, एक ब्लैंक माइग्रेशन सर्टिफिकेट, एक प्रोवेजनल डिग्री, तैयार 29 फर्जी मार्कशीट, तैयार 20 फर्जी डिग्री सर्टिफिकेट इत्यादि सामान बरामद किया। वहीं, पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर एक थार गाड़ी को भी पुलिस ने गाजियाबाद से बरामद किया है।  
 

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement