जम्मू कश्मीर: अनंतनाग में आतंकवादियों के खिलाफ अभियान तीसरे दिन भी जारी, सेना ने किया ड्रोन का इस्तेमाल

जम्मू कश्मीर: अनंतनाग में आतंकवादियों के खिलाफ अभियान तीसरे दिन भी जारी, सेना ने किया ड्रोन का इस्तेमाल

जम्मू कश्मीर। अनंतनाग जिले में बुधवार से ही सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ तिसरे दिन भी जारी है। इस एनकाउंटर में एक और जवान के शहीद होने की खबर सामने आई है। इसी के साथ शहीद होने वालों की संख्या बढ़कर 4 पहुंच गई है।  वहीं आज हरियाणा के वीर सपूत शहीद मेजर आशीष का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अनंतनाग मुठभेड़ में शहीद हुए कर्नल मनप्रीत सिंह का पार्थिव शरीर मोहाली-पंजाब उनके आवास मुल्लांपुर पहुंचा।

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में पहाड़ी इलाके के जंगलों में छुपे आतंकवादियों का पता लगाने के लिए चल रहे अभियान में ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों को पकड़ने के लिए चल रहा यह अभियान तीसरे दिन भी जारी है। बुधवार को आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में तीन सैन्य अधिकारी और एक जवान शहीद हो गया था। 

अधिकारियों ने कहा,'' ड्रोन से की जा रही निगरानी के आधार पर सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों के छुपने की जगह पर मोर्टार के गोले दागे हैं।'' उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने इलाके को पूरी तरह से घेर रखा है। दक्षिण कश्मीर जिले के कोकेरनाग इलाके के गडोले में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में बुधवार सुबह सेना की 19 राष्ट्रीय राइफल्स इकाई के कमांडिंग अधिकारी कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष ढोचक, जम्मू-कश्मीर पुलिस के उपाधीक्षक हुमायूं भट्ट के साथ ही एक सैनिक भी शहीद हो गया था। 

बता दें कि गुरुवार को सेना का यह जवान घायल हुआ था। अस्पताल में आज इलाज के दौरान सेना के जवान ने दम तोड़ दिया। इससे पहले बुधवार को हुए एनकाउंटर में सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस के कुल 3 जवान शहीद हुए थे। शहीद होने वालों में 19 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धोनैक और डीएसपी हुमायूं भट्ट हैं। 

ये भी पढ़ें- आबकारी नीति मामला: सुप्रीम कोर्ट से सिसोदिया को नहीं मिली राहत, जमानत पर 4 अक्टूबर को होगी सुनवाई

Online Jobs Apply