बरेली: करोड़ों की धोखाधड़ी के आरोपी लाल को 16 साल बाद भी नहीं तलाश पाई पुलिस, जानिए मामला

मिशन अस्पताल की संपत्ति अवैध रूप से बेचने का आरोपी है बीआरके लाल

बरेली: करोड़ों की धोखाधड़ी के आरोपी लाल को 16 साल बाद भी नहीं तलाश पाई पुलिस, जानिए मामला

DEMO IMAGE

बरेली, अमृत विचार। मिशन अस्पताल की करोड़ों की संपत्ति को अवैध तरीके से बेचकर फरार हुए मेथाडिस्ट चर्च के पूर्व डिस्ट्रिक्ट सुपरिंटेंडेंट बीआरके लाल को 16 साल बाद भी पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई। लाल पर तीन मुकदमे दर्ज हैं। हाल ही में गैर जमानती वारंट भी जारी हुआ है। इसके बावजूद गिरफ्तारी न होने से पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें- अधिवक्ता लाठीचार्ज मामला: मुकेश चंद्र बने बरेली एसपी देहात, राजकुमार को भेजा हापुड़

क्लेरा स्वैन मिशन हॉस्पिटल के तत्कालीन डॉयरेक्टर डॉक्टर पुण्यव्रत मुखर्जी की ओर से 13 अक्टूबर 2007 को कोतवाली में मेथाडिस्ट चर्च के तत्कालीन एक्जीक्यूटिव सेक्रेटरी सुनील मैसी और डीएस बीआरके लाल के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी, जान से मारने की धमकी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस ने लाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी लेकिन इसके बाद वह कोतवाली से फरार हो गए थे। इसके बाद पुलिस लाल का कुछ पता नहीं लगा पाई।

प्रेमनगर की बीडीए कॉलोनी के रहने वाले अरुण थॉमस ने भी 23 मई 2012 को कोतवाली में बीआरके लाल के साथ कैंट में बीआई बाजार के रहने वाले विलियम दिलावर, सिविल लाइंस के सुनील के मसीह, पूर्व जनरल सेक्रेटरी इला प्रदीप सैमुअल, एसएस सिंह अध्यक्ष एनआईआरसी समेत कई लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी, फर्जी कागजात तैयार करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया था। कहा जा रहा है कि लाल पुलिस की साठगांठ से ही फरार हुए थे। इसी कारण पुलिस ने उन्हें बाद में तलाश करने की कोशिश भी नहीं की।

यह भी पढ़ें- बरेली: ट्रेन की चपेट में आया साइकिल सवार, मौके पर ही मौत

Online Jobs Apply