प्रतापगढ़: बंटवारे के विवाद से दुखी दिव्यांग युवती फेसबुक पर वीडियो पोस्ट कर दी जान, जानें पूरा मामला

मुख्यमंत्री को संबोधित वीडियो और सुसाइड नोट में प्रशासन पर अनदेखी का आरोप

प्रतापगढ़: बंटवारे के विवाद से दुखी दिव्यांग युवती फेसबुक पर वीडियो पोस्ट कर दी जान, जानें पूरा मामला

प्रतापगढ़, अमृत विचार। दुकान के बंटवारे को लेकर हो रहे विवाद से दुखी से दिव्यांग युवती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सम्बोधित वीडियो व सुसाइड नोट फेसबुक पर पोस्ट किया। उसने पुलिस प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया और फंदे से झूल कर जान दे दी। आक्रोशित व्यापारियों ने हाईवे को जाम कर दिया। वहां पहुंचे चिलबिला चौकी पुलिस को खदेड़ कर वापस कर दिया। एएसपी, एसपी, विधायक पहुंचे। काफी मान मनौवल के बाद करीब छह घण्टे बाद जाम हट सका। इसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

cats004

एसपी ने इंचार्ज समेत चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया नगर कोतवाली के चिलबिला के मौर्या चौराहा स्थित सगे भाई सचिन व मनीष का दुकान के बंटवारे को लेकर तीन दिन से विवाद चल रहा है।इसके शिकायत पुलिस तक भी गई। आरोप है कि न्याय नहीं मिला। इससे दुखी ब्यूटी पार्लर चलाने वाली उसकी बहन कंचन जायसवाल (40) पुत्री स्व. मक्खन लाल ने रविवार की सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सम्बोधित वीडियो बयान व सुसाइड नोट फेसबुक पर पोस्ट किया। जिसमें युवती ने पुलिस प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया और उसके बाद दुकान के अंदर ही फंदा लगाकर जान दे दी।

जानकारी मिलते ही बाजार वासियों की भीड़ जुट गई। युवती का वीडियो बयान देख व्यापारी आक्रोशित हो गए। वहां पहुंचे चिलबिला चौकी इंचार्ज समेत पुलिससकर्मियों को खदेड़कर वापस कर दिया। प्रयागराज-अयोध्या हाईवे को बंद कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। नगर कोतवाल सत्येंद्र सिंह,सीओ सिटी करिश्मा गुप्ता, एएसपी पूर्वी विद्यासागर मिश्र पहुंचे लेकिन बात नहीं बनी। बवाल की आशंका पर कंधई, कोंहडौर, दिलीपपुर से भी पुलिस बुलाई गई। इसके बाद सदर विधायक राजेन्द्र कुमार मौर्य,एसपी सतपाल अंतिल पहुंचे। 

पीड़ित परिवार और व्यापारियों ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही कुछ सम्भव है। करीब छह घंटे बाद एसपी सतपाल अंतिल ने परिजनों की मांग आरोपियों की गिरफ्तारी, 50 लाख की आर्थिक मदद, शस्त्र लाइसेंस,परिवार की सुरक्षा आदि मांगो को पूरा करने का आश्वासन दिया, इसके बाद जाम खत्म हुआ। 

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।मामले को गम्भीरता से लेते हुए एसपी सतपाल अंतिल ने चौकी इंचार्ज शेषनाथ यादव, सिपाही धर्मवीर, राहुल शर्मा, कुशल यादव,लोकेश बैसला, जनमेजय चौरसिया को भी निलंबित कर मामले की जांच सीओ सिटी करिश्मा गुप्ता को दी है। एसपी सतपाल अंतिल ने बताया कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। 

घटना में शामिल। संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लापरवाह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। मामले की जांच सीओ सिटी को दी गई है।

इस कारण गई दिव्यांग युवती की जान

नगर कोतवाली के चिलबिला निवासी मक्खन लाल के कुल छह बेटे  और पांच बेटियां हैं। बेटियों में मृतका के अलावा एक छोटी बेटी शादी नहीं हुई है। बेटों में तीन बेटे सचिन,शशि व ऋषि एक साथ व मनीष,अश्वनी व हर्षित एक साथ रहते हैं। मक्खन लाल ने सचिन को अपनी संपत्ति से बेदखल कर दिया था। 

कुछ दिन पहले ही शशि व ऋषि ने चिलबिला के ही एक व्यक्ति को अपनी दुकान का एग्रीमेंट किया था।एग्रीमेंट लेने वाले ने बेदखल हुए सचिन का भी हिस्सा कब्जा करने का प्रयास करते हुए पूरे दुकान में इलेक्ट्रिक वेल्डिंग करा कर उसे पूरी तरह से बंद करा दिया था। जिससे मनीष की दुकान नहीं खुल रही थी।

भाइयों को खुशहाल देखना चाहती थी कंचन
बंटवारे के विवाद से दुखी फंदे पर झूलने वाली कंचन ब्यूटी पार्लर का संचालन कर अपना भरण पोषण करती थी।वह सभी भाइयों को खुशहाल देखना चाहती थी।इसके लिए वह अपने भाइयों की आर्थिक मदद भी की थी।

ये भी पढ़ें -देव दीपावली कल, लाखों दीयों से रोशन होंगे काशी के घाट - CM योगी करेंगे मेहमानों का स्वागत

ताजा समाचार