देहरादून: आतंकी अर्शदीप का सहयोगी सुशील गिरफ्तार

उत्तराखंड एसटीएफ और दिल्ली स्पेशल सेल ने की मंगलौर से गिरफ्तारी

देहरादून: आतंकी अर्शदीप का सहयोगी सुशील गिरफ्तार

देहरादून, अमृत विचार। उत्तराखंड एसटीएफ और दिल्ली स्पेशल सेल को ज्वाइंट टास्क में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। संयुक्त टीमों ने आतंकी अर्शदीप सिंह गिल उर्फ अर्शप्रीत उर्फ अर्श डल्ला के सहयोगी सुशील कुमार पुत्र स्व. जयकरण सिंह निवासी ग्राम टिकोला थाना मंगलौर जनपद हरिद्वार  को उसके टिकोला स्थित घर से गिरफ्तार किया है। सुशील के घर से भारी मात्रा में हथियार व कारतूस बरामद हुए हैं। उससे गहन पूछताछ की जा रही है।

एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने मंगलवार को बताया कि इससे पूर्व दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अर्शदीप के शूटर राजप्रीत सिंह उर्फ राजा बम पुत्र गुरुचरण सिंह को गिरफ्तार किया था, जिससे पूछताछ में अर्शदीप के सहयोगी सुशील कुमार का नाम आया था । सुशील ने पुरानी रंजिश होने के कारण टिकोला निवासी कविन्द्र प्रमुख को अर्शदीप से सिग्नल एप से रंगदारी एवं जान से मारने की धमकी दिलवायी थी। उसका अभियोग थाना मंगलौर में दर्ज हुआ था। एसटीएफ के निरीक्षक अबुल कलाम की टीम ने सुशील की गिरफ्तारी की है।

एनआईए ने किया था आतंकी घोषित
एसएसपी ने बताया कि अर्शदीप को नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने पिछले साल आतंकी घोषित किया था । 27 वर्षीय अर्शदीप मूल रूप से पंजाब के मोगा जिले के डाला गांव का रहने वाला है। वह अब कनाडा में रहता है। उस पर पंजाब में आतंकी फंडिंग,सीमा पार से हथियारों की तस्करी और कई टारगेट किलिंग को अंजाम देने का आरोप है। सितम्बर 2023 में कनाडा में अर्श के करीबी सुखविन्दर गिल उर्फ सुक्खी दुनेकी की हत्या हो गयी थी, जिसकी जिम्मेदारी लॉरेन्स बिश्नोई गैंग ने ली थी। अर्श को शक था कि इस हत्या मे लॉरेन्स बिश्नोई गैंग की मदद पंजाबी संगीत उद्योग जगत के सैलिब्रिटी एली मंगत निवासी पंजाब ने की थी,जिस कारण अर्श एली मंगत की अपने शूटर राजप्रीत के माध्यम से हत्या करवाना चाहता था। दिल्ली स्पेशल सेल ने दो दिन पूर्व 26 नवंबर को राजप्रीत सहित अर्श गैंग के 4 शूटरो को गिरफ्तार किया था।

हथियार सप्लायर सुशील है राजप्रीत का करीबी
एसएसपी के अनुसार,अभियुक्त सुशील अर्श डल्ला के मुख्य शूटर राजप्रीत का करीबी है और उसको हथियार सप्लाई करता है। राजप्रीत पंजाब में हुई हत्या के फरार चल रहा था। वह जनवरी 2023 से जुलाई 2023 तक सुशील कुमार के गांव टिकोला के घर में छिपा था। इस दौरान अर्श से वह बात करता रहा और सुशील की भी जान पहचान अर्श से करवायी। जिसके बाद सुशील ने अर्श  से कविन्द्र प्रमुख को धमकी दिलवायी थी।

ताजा समाचार

Farrukhabad News: पत्नी के शव के साथ तीन मासूमों को छोड़कर भागा बेरहम पिता; अस्पताल में बिलखते रहे बच्चे...
प्रयागराज: लापता एलआईसी कर्मी विमल का नहीं लगा सुराग, पत्नी ने CM पोर्टल पर की शिकायत
हरदोई में लड़खड़ाते दूल्हे को देख बोली दुल्हन...नहीं करुंगी शराबी से शादी
कांग्रेस की बंगाल इकाई के नेता कौस्तव बागची ने पार्टी से दिया इस्तीफा दिया, भाजपा में जाने के दिए संकेत
बहराइच: राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर एटीएस लगाएगी अंकुश, मुख्यमंत्री ने वर्चुअली थाने और भवन का किया उद्घाटन
हेडफोन के इस्तेमाल से बीमारियों को दावत दे रहे आप, ऐसे करें बचाव
अभी नौकरी पाओ