सुलतानपुर: मामूली धारा में केस दर्ज होने पर भड़के परिजन, शव के अंतिम संस्कार से किया इंकार, जानें क्या था मामला?

सुलतानपुर: मामूली धारा में केस दर्ज होने पर भड़के परिजन, शव के अंतिम संस्कार से किया इंकार, जानें क्या था मामला?

सुलतानपुर। पेड़ की डाल काटने को लेकर मंगलवार को बड़े भाई की छोटे भाई ने हत्या कर दी थी। बुधवार को पोस्टमार्टम के लिए बाद शव घर पहुंचा तो परिजन मामूली धारा में केस दर्ज होने के कारण भड़क गए और अंतिम संस्कार से इंकार दिया। देर शाम तक एसडीएम जयसिंहपुर अरविंद कुमार समेत अन्य अधिकारी परिजनों को समझाने में जुटे रहे। लेकिन परिजन हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज किए जाने तक अंतिम संस्कार न करने पर अड़े रहे। इस दौरान गांव में एहतियातन कई थानों की फोर्स मौजूद रहे। 

मामूली कहासुनी से बढ़ गई बात 

जयसिंहपुर पुलिस ने मृतक राम मिलन के भाई और भतीजे समेत दो आरोपियों को जेल भेजने की कार्रवाई की है। जयसिंहपुर कोतवाली क्षेत्र के मेंहदिया गांव में मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे सगे भाइयों राम मिलन और राजनाथ में पेड़ की डाल काटने को लेकर कहासुनी के बाद विवाद हो गया। राम मिलन की छत पर घर के बगल लगे अर्जुन के पेड़ डालियां लटक रही थी। जिसको उसने काट दिया। इसी बात से गुस्साए उसके भाई राजनाथ ने अपने बेटे के साथ मिलकर राम मिलन पर लाठी-डंडे से हमला बोल दिया। मारपीट में राम मिलन और उसके पिता रामजग गंभीर रूप से घायल हो गए।

पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ठ नहीं परिजन

आनन-फानन में दोनों को अस्पताल ले जाया गया। वहां, चिकत्सक ने राम मिलन (42) को मृत घोषित कर दिया। रामजग (65) को मेडिकल कालेज सुलतानपुर से लखनऊ रेफर किया गया है, वहां इलाज चल रहा है। बुधवार को दोपहर बाद जब राम मिलन का शव घर पहुंचा तो परिजन यह कहते हुए शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया कि मामले में धारा 302 समेत अन्य धाराओं के तहत परिजन कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

वहीं, जयसिंहपुर पुलिस ने राम मिलन की हत्या के मामले में धारा 304 और 504 के तहत कार्रवाई की है। राम मिलन की हत्या के मामले में उसके भाई राजनाथ और उसके बेटे दुर्गेश यादव को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। वहां से दोनों को जेल भेज दिया। राम मिलन के परिजन पुलिस की इस कार्रवाई से संतुष्ट नही है। शाम साढ़े सात बजे तक राम मिलन के शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जा सका था। परिजन कुछ ग्रामीणों के साथ अपनी मांग पर अड़े हैं।

जयसिंहपुर कोतवाल प्रेमचन्द्र सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर कार्रवाई की गई है। अभी मामले में मृतक के अस्पताल में भर्ती पिता का बयान लिया जाना है।

Untitled-40 copy

यह भी पढ़ें: सुलतानपुर: किसानों को गन्ना पर्ची नहीं मिलने पर फिक्रमंद दिखीं मेनका गांधी, सांसद ने एमडी से की बात

ताजा समाचार

रामनगर: तेंदुलकर ने फेसबुक पर फोटो किया पोस्ट तो छाए कुक फुलारा, मास्टर ब्लास्टर ने पकौड़े बनाने के दिए टिप्स
शाहजहांपुर: 18 को तिलक, 24 को शादी...इससे पहले प्रेमी संग युवती फरार
Kannauj News: कूड़ा निस्तारण प्लांट में लगी आग...24 घंटे बाद भी नहीं हुई शांत, दमकल टीम बुझाने का कर रही प्रयास
रामनगर: हाथी के पास वाहन ले जाने पर दो जिप्सी और दो गाइडों का फाटो में प्रवेश पर लगा प्रतिबंध
Loksabha election 2024: बिजनौर और पीलीभीत में सुरक्षा की कमान संभालेंगे देवीपाटन मंडल के 1475 होमगार्ड जवान
कासगंज: प्रत्याशी राजवीर सिंह की चल संपत्ति घटी, अचल संपत्ति में हुई बढ़ोतरी