CISCE Result 2024: सीआईएससीई की 10वीं, 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, लड़कियों ने मारी बाजी

CISCE Result 2024: सीआईएससीई की 10वीं, 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, लड़कियों ने मारी बाजी

नई दिल्ली/लखनऊ। ‘काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन्स’ (सीआईएससीई) की 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के सोमवार को सुबह घोषित नतीजों में लड़कियों ने लड़कों से बाजी मारी। सीआईएससीई के एक अधिकारी ने बताया कि 99.47 प्रतिशत छात्रों ने 10वीं कक्षा की परीक्षा में सफलता हासिल की जबकि 98.19 फीसदी छात्रों ने 12वीं कक्षा की परीक्षा पास की। 

सीआईएससीई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सचिव जोसेफ इमैनुअल ने कहा, ‘‘10वीं कक्षा में 99.31 प्रतिशत लड़के पास हुए जबकि 99.65 प्रतिशत लड़कियों ने सफलता हासिल की। इसी तरह, 12वीं कक्षा में लड़कों का पास प्रतिशत 97.53 रहा जबकि लड़कियों का पास प्रतिशत 98.92 प्रतिशत रहा।’’ 

10वीं कक्षा में इंडोनेशिया, सिंगापुर और दुबई के स्कूलों ने विदेशों में सबसे अच्छा 100 फीसदी प्रदर्शन किया। 12वीं कक्षा में सिंगापुर और दुबई के स्कूलों ने विदेशों में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया। आईसीएसई परीक्षा (10वीं कक्षा) 60 लिखित विषयों में करायी गयी थी जिनमें से 20 भारतीय भाषाओं, 13 विदेशी भाषाओं और एक शास्त्रीय भाषा में थी। 

आईसीएसई परीक्षाएं 21 फरवरी को शुरू हुईं और 28 मार्च को 18 दिन में खत्म हुईं। आईएससी परीक्षा (12वीं कक्षा) 47 लिखित विषयों में करायी गयी जिनमें से 12 भारतीय भाषाओं, चार विदेशी भाषाओं और दो शास्त्रीय भाषाओं में थी। आईएससी परीक्षाएं 12 फरवरी को शुरू हुई और चार अप्रैल को खत्म हुईं।  

ताजा समाचार

हल्द्वानी: सरकारी संस्थानों व स्कूलों के रिचार्ज पिट बढ़ाएंगे शहर का भूमिगत जलस्तर
12460 शिक्षक भर्ती: 27 से 29 जून तक होगा चयनित शिक्षकों को स्कूल का आवंटन
हरदोई: कुत्ते को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित होकर नाले में गिरी एक्सयूवी कार, बाल-बाल बच कार सवार
Kanpur: नौकरानी व उसके प्रेमी ने डॉक्टर के घर से की थी 15 लाख की चोरी, सीसीटीवी फुटेज व सीडीआर से खुलासा, दोनों आरोपी गिरफ्तार
Kanpur Murder: हत्यारा पिता बोला- बेटा-बहू के तंत्र मंत्र कराने से हुई थी पत्नी की मौत...अब मुझे भी सता रहा था डर
AUS vs AFG : ऑस्ट्रेलिया पर बड़ी जीत के बाद बोले राशिद खान- पिछले दो वर्षों से हमें इस तरह के गौरवशाली पल की कमी खल रही थी