बाराबंकी: केजीबीवी के छात्रावास में लगाई घटिया ईंट व सामग्री, यूपीपीसीएल ने कराया है निर्माण

बाराबंकी: केजीबीवी के छात्रावास में लगाई घटिया ईंट व सामग्री, यूपीपीसीएल ने कराया है निर्माण

गणेशपुर/ बाराबंकी, अमृत विचार। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय गणेशपुर के छात्रावास का निर्माण कार्य करोड़ों रुपए की लागत से यूपीपीसीएल कंपनी के द्वारा किया जा रहा है। निर्माणाधीन छात्रावास में मानक विहीन ईंट वा खराब सामग्री का प्रयोग हो रहा है। गणेशपुर प्रधान प्रतिनिधि के द्वारा सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल किया गया था। जिसमें जर्जर डायट बिल्डिंग की नीलामी से ठेकेदार द्वारा खरीदे गए पुरानी ईंटों का प्रयोग छात्रावास की नींव में करने की बात कही गई थी। इसी खबर को प्रमुखता से समाचार पत्रों में प्रकाशित भी किया गया था। इसके बावजूद यूपीपीसीएल कंपनी ने पुरानी ईंट नींव में डाल दी और छात्रावास का निर्माण कर दिया। बीते महीने में सीडीओ ने छात्रावास का औचक निरीक्षण कर संबंधित कंपनी को मानक के अनुसार छात्रावास का निर्माण कार्य करने के निर्देश दिए थे। उसके बावजूद छात्रावास बनाने में मानक के अनुसार कार्य नहीं किया जा रहा है।

वार्डन पुष्पा त्रिपाठी ने बताया कि छात्रावास बनाने में मानक विहीन कार्य किया जा रहा है। हमने सीडीओ को पत्र लिखकर भेज दिया है। छात्रावास के अंदर आंगन में बहुत ही गहराई है। घाघरा नदी के किनारे का क्षेत्र है। अंदर छात्रावास में जल भराव होगा। छात्रावास तो बना दिया गया है नाली का निकास कहीं नहीं बनाया गया है। नीचे और ऊपर बिल्डिंग में लोहे का जाल नहीं लगाया गया है। पूरे छात्रावास में बंदर कूदते रहेंगे। जाल न लगने की वजह से कोई भी छात्रा बिल्डिंग से नीचे गिर सकती है। टैंक, चैंबर केवल एक बनाया गया है। सारा पानी छात्रावास का उसी में ही जाएगा। शौचालय से टैंक की दूरी 50 मीटर है। बीच में ही शौचालय की नाली बंद हो जाएगी।

ये भी पढ़ें -गला दबाकर की गयी थी सेवानिवृत्त शिक्षिका की हत्या, गोंडा पुलिस ने किया खुलासा

ताजा समाचार