बेहतर शिक्षा से ही बढ़ेगी विद्यालय में बच्चों की संख्या: सूर्यप्रताप सिंह

बेहतर शिक्षा से ही बढ़ेगी विद्यालय में बच्चों की संख्या: सूर्यप्रताप सिंह

कासगंज, अमृत विचार। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बुधवार के प्राथमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। विद्यालय में निरीक्षण के दौरान मिली खामियों को दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए। साथ ही विद्यालय में बच्चों की संख्या बढ़ाने को भी कहा है।

शासन के निर्देश है कि सभी बेसिक शिक्षा अधिकारी जिले में संचालित परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण कर शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने व बच्चों की कम संख्या को बढ़ाने का कार्य करें। जिसके बाद बीएसए सूर्य प्रताप ने मुनब्बरपुर प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। विद्यालय में साफ सफाई और बच्चों की कम संख्या को लेकर बीएसए ने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने विद्यालय में मौजूद शिक्षक, शिक्षिकाओं से बच्चों की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहाकि परिषदीय विद्यालय में शिक्षक, शिक्षिकाएं बेहतर से बेहतर शिक्षा देने का काम करें, तभी बच्चों की संख्या में बढ़ोतरी होगी। निजी स्कूलों की तर्ज पर विद्यालय में पढ़ाई करायें। गांव में जाकर अभिभावको से मिले और बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करें।

उन्होंने बताया कि शासन के निर्देश पर परिषदीय विद्यालयों को निरीक्षण किया जा रहा है। विद्यालयों में शिक्षक, शिक्षिकाएं समय से स्कूल पहुंच रहे हैं या नहीं है। इन सब  चीजों को लेकर निरीक्षण किये जा रहे हैं। मुनब्बरपुर विद्यालय में बच्चों की संख्या कम थी। उन्हें बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: बाढ़ पीड़ितों का दर्द जानने लखीमपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जानिये क्या कहा

ताजा समाचार

UP में बड़ा एक्शन, ADG की रेड के बाद बलिया में नरही SHO और कोरन्टाडीह चौकी का पूरा स्टाफ Suspend   
कांग्रेस सांसद ने सरकार की तुलना ईस्ट इंडिया कंपनी से की, सरकारी संपत्तियों को बेचने का लगाया आरोप
बरेली: बच्चों के बुखार की न करें अनदेखी...दो महीने में 4 में मिले 'मेनिनजाइटिस' के लक्षण
हल्द्वानी: बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता व निवर्तमान पार्षद के बीच विवाद ने पकड़ा तूल
Kanpur: बढ़ा हुआ बिजली का बिल आने से उपभोक्ता परेशान; समस्या दूर करने के लिए केस्को ने लगाए कैंप, अब तक आईं इतनी शिकायतें...
यह “कुर्सी बचाओ” बजट है.., विपक्ष ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- किसानों को छल रही सरकार