बरेली: यात्रियों की जान खतरे में डालने वाले पर रिपोर्ट दर्ज

बरेली: यात्रियों की जान खतरे में डालने वाले पर रिपोर्ट दर्ज

अमृत विचार, अमृत विचार। बरेली जंक्शन पर सोमवार अवध असम एक्सप्रेस में आग लगने और भगदड़ मचने के मामले में आरपीएफ ने रेलवे एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की है। आरपीएफ को मौके से एक मोबाइल मिला है। इस मोबाइल से बैग में जलती बीड़ी रखने वाले का पता चल सकेगा। आरपीएफ पूरे मामले की जांच कर रही है। आरपीएफ ने हादसे के बाद यात्रियों के बयान लिए।

स्टेशन अधीक्षक, आरपीएफ थाना प्रभारी निरीक्षक समेत चार अधिकारियों ने मंडल को संयुक्त रिपोर्ट भेजी है। यात्रियों के बयान से पता चला है कि जिस व्यक्ति की वजह से बैग में आग लगी वो ट्रेन के अंदर छिप-छिप कर बीड़ी पी रहा था।

कई यात्रियों ने उसको देखा तो टोका भी था, लेकिन वह नहीं माना। उसने जलती हुई बीड़ी को बैग में डाल दिया, इसके बाद आग लग गई। बर्थ संख्या 55 के आसपास बैठे आधा दर्जन से ज्यादा यात्रियों के बयान आरपीएफ ने लिए हैं।

पूरे मामले की जांच के लिए तीन टीमों को लगाया गया है। आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक मनोज यादव ने बताया कि जले हुए बैग के पास से बिना सिम का एक फोन भी बरामद हुआ है। यह फोन फरार आरोपी का हो सकता है। वहीं जले हुए बैग से चार्जर और कपड़े भी बरामद किये गये हैं। रेलवे एक्ट की धारा 153 ( जानबूझकर यात्रियों की जान जोखिम में डालने) के अलावा 167 व 145 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है।

ये भी पढे़ं- बरेली: शहर से लेकर देहात तक धूमधाम से मनाया गया गोवर्धन पूजा

ताजा समाचार