बाराबंकी : नदी किनारे मिला 10 दिन से लापता युवक का नर कंकाल, पुलिस कर रही जांच  

बाराबंकी : नदी किनारे मिला 10 दिन से लापता युवक का नर कंकाल, पुलिस कर रही जांच  

बाराबंकी, अमृत विचार। कल्याणी नदी के किनारे से 10 दिन पहले संदीप परिस्थितियों में लापता हुए युवक का कंकाल झाड़ी नुमा बाग में पाया गया है। परिजनों ने कपड़ो से मृतक की पहचान की। 
  
15 सितंबर की सुबह थाना व कस्बा सफदरगंज निवासी हरिश्चंद्र गुप्ता का 28 वर्षीय पुत्र शिवप्रसाद गाँव के निकट से बह रही कल्याणी नदी के किनारे शौच के लिए गया था। जहां से वह लापता हो गया। काफी खोजों के बाद भी जब वह नहीं मिला तो परिवार के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मृतक की माँ मीना देवी की की तहरीर के आधार पर पुलिस ने तलाश शुरू की लेकिन उसका कोई भी पता नहीं चला। नदी के किनारे युवक के चप्पल अनुमान लगाया गया कि युवक नदी में डूब गया होगा। गोताखोरों की मदद से नदी में युवक की तलाश भी की गई। लेकिन आसपास की झाड़ियां में देखना भी गंवारा नहीं किया गया। भारी वर्षा और कल्याणी नदी की बाढ़ के कारण युवक का पता नहीं चला। 

बुधवार की सुबह लोग जब कुड़ी गाँव से थोड़ी दूरी पर स्थित परशुराम की झाड़ीनुमा बाग़ की ओर शौच के लिए गये तो झाड़ियों मे फंसे नरकंकाल को देख लोगो ने पुलिस को सूचना दी। मौक़े पर पहुंची युवक की माता ने कपड़ो से अपने बेटे की शिनाख्त की। युवक के नरकंकाल मे शरीर से हाथ पैर व सिर अलग अलग हो गये थे। मात्र हड्डियों से देखकर ही पहचान लगाया जा सकता था कि यह हाथ है या पैर। पुलिस का कहना है कि नदी के तेज बहाव में शव झाड़ियों मे फंस गया होगा जिसे जंगली जानवरों ने नोच डाला है।

ये भी पढ़ें -UP को मिलीं 93 महिला युवा कल्याण अधिकारी, बाराबंकी पुलिस लाइन में हुई भव्य दीक्षांत परेड

ताजा समाचार