अयोध्या: फोन कर बोला- गुमटी के पीछे पड़ी है लाश... प्रेम प्रसंग में डंडे से पीट-पीटकर युवक की हत्या

अयोध्या: फोन कर बोला- गुमटी के पीछे पड़ी है लाश... प्रेम प्रसंग में डंडे से पीट-पीटकर युवक की हत्या

बीकापुर/अयोध्या, अमृत विचार। दीपावली की रात बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पंचायत जलालपुर माफी गांव निवासी एक युवक की पुलिस पिकेट के पास डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, पिकेट पर तैनात सशस्त्र होमगार्ड जवानों को वारदात की खबर तक नहीं लगी। वारदात प्रेम प्रसंग के चलते अंजाम दी गई। हत्या के बाद फोनकर मृतक के परिवार को वारदात और शव तिराहे के पास गुमटी के पीछे पड़े होने की जानकारी दी गई। 

जानकारी पर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अतुल कुमार सोनकर के नेतृत्व में सीओ तथा कोतवाल ने मौका मुआयना किया है। मंगलवार को दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर आला क़त्ल डंडे बरामद किया है। साथ ही दोनों का चालान किया है।  

बताया गया कि गांव निवासी युवक मुकेश कुमार पुत्र रामदुलार कोरी का इसी गांव के तिराहा निवासी मलगु निषाद के घर आना-जाना और उसकी 19 वर्षीय पुत्री से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वह मुंम्बई में रहकर टैक्सी चलाता था और त्योहार को लेकर मुंबई से गांव आया था।

दीपावली की रात भी मुकेश कुमार कोरी गांव निवासी मलगु के घर गया था, इसी दौरान देर रात मलगु ने उसको आपत्तिजनक हाल में देख लिया और डंडे से पिटाई शुरू कर दी, जिसके चलते मुकेश की मौत हो गई। अगले दिन भोर में शव मिलने के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया।

तहरीर में मृतक के बड़े भाई सुरेश कुमार का कहना है कि उनका छोटा भाई मुकेश कुमार दीपावली की देर रात शौच के लिए घर से बाहर गया था। आरोप लगाया कि मेरे मोबाइल पर कुछ घंटे बाद उसके फोन से कॉल आया और जातिसूचक गाली देकर कहा गया कि तुम्हारे भाई को जान से मार कर सैनी पान भंडार जलालपुर माफी तिराहा दुकान के पीछे लिटा दिया है तथा उसका मोबाइल लेकर जा रहे हैं, आकर शव को ले जाओ। 

कोतवाल राजेश कुमार राय ने मंगलवार को बताया कि मृतक के बड़े भाई की तहरीर पर उसके गांव के ही मलगू निषाद एवं बबलू निषाद के खिलाफ हत्या, गाली-गलौच और एससी/एसटी एक्ट के तहत नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई थी। पुलिस ने दोनों नामजद आरोपियों को उनके घर के बगल से गिरफ्तार कर मेडिकल कराने के बाद चालान किया गया है और वारदात में प्रयुक्त दो डंडे बरामद किये गए हैं।

ये भी पढ़ें -अयोध्या: आखिर खत्म क्यों नहीं हो रहे है डेंगू के मच्छर, डर के साये में बीती लोगों की दीपावली

Online Jobs Apply